Astroscience

हमारे बारे में

एस्ट्रोसाइंस टेक्नोलॉजीज प्रा. लिमिटेड गुरुदेव जी डी वशिष्ठ ज्योतिष संस्थान की एक प्रमुख शाखा है। एस्ट्रोसाइंस दुनिया भर में एक प्रमुख ज्योतिष परामर्श और सेवा-उत्पाद की कंपनी है। इसका मुख्य कार्यालय उद्योग विहार, गुरुग्राम (गुड़गांव), हरियाणा, भारत में स्थित है। गुरु जी के 3 दशकों के अथक प्रयास और गहन अध्ययन, समर्पण, दिन-रात्रि की साधना-अभ्यास, ज्योतिष अनुसंधान, प्राचीन संस्कृत अध्ययन, लाल किताब आदि को समावेशित कर सॉफ्टवेयर के रूप में एक वशिष्ठ ज्योतिष की संरचना की है जो की आज विश्व के सबसे उच्च शिखर पर है l एस्ट्रोसाइंस अपने ज्योतिष उत्पादों में सबसे सटीक और उच्चतम गुणवत्ता प्रदान करती है। आज एस्ट्रोसाइंस पर दुनिया के लाखों लोगों का भरोसा है।

25
लाखो ग्राहक
का भरोसा
30
सालों का
अनुभव
45
कुंडली के
प्रकार
99
योग्य
ज्योतिषी
89
सफल
राशिफल
about_img

गुरु जी के बारे में

गुरु जी का जन्म एक कुलीन ब्राह्मण परिवार में पंजाब प्रांत में हुआ और उन्होने जीवन के शुरूआती दिनों में लगभग 14 वर्ष की आयु में ही अपनी आँखों की रोशनी को खो दिया l डॉक्टरों ने उस समय उम्मीद छोड़ दी थी और कहा की आँखों की रोशनी दुबारा वापिस न आ पायेगी l इसके बाद गुरु जी ने लाल किताब के ज्योतिषीय उपायों का पालन किया और अपनी दृष्टि को चमत्कारिक ढंग से वापस लाने में सफल हुये। इस घटना ने लाल किताब में उनका विश्वास जगा दिया और उन्होने फिर इस आधुनिक लाल किताब की रचना की और वशिष्ठ ज्योतिष के द्वारा उन्होने लाल किताब के अद्भुत उपायों को जन-जन तक पहुंचाया और महान ज्योतिषी बने। लाल किताब के द्वारा अब तक लाखों लोगों के कष्टों को दूर किया।

उनको 5 गुरुओं के मार्गदर्शन में ज्योतिष सीखने का अवसर मिला और उन्होने लाल किताब के नियमों और सामग्री के बारे में सीखा। इसके बाद फिर वैदिक, अन्य पवित्र पुस्तकों पर शोध करना शुरू किया और अपने ज्योतिषीय पहलुओं को यथार्थवादी व्यावहारिक वैज्ञानिक तर्क से संबंधित किया। गुरुजी पवित्र हिंदू पुस्तक – “लाल किताब अमृत” के रचियता हैं। गुरु जी के लाइव प्रोग्राम देश के प्रमुख टी.वी. चैनलों जैसे- इंडिया न्यूज़, दिव्या टीवी, साधना टीवी, दिशा टीवी आदि पर प्रसारित किए जाते है ।
और पढ़ें

हमारी नवीनतम वीडियो

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न :

उत्तर : विवाह के पूर्व जन्म कुंडली का मिलान बहुत ही जरूरी होता है क्यों की इससे ये पता चलता है की वर-वधू के बीच कितने गुणों का मिलान हो रहा है और क्या यह दोनों का संबंध हमेशा चलेगा और विवाह के बाद कोई बाधा तो नहीं आएगी इन कब उद्धेश्यों को देखते हुये जन्म कुंडली का मिलान बहुत ही जरूरी होता है l


और पढ़ें

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience
WhatsApp chatWhatsApp Us