Astroscience
जानिये क्या है, सावन की शिवरात्रि, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व ?

जानिये क्या है, सावन की शिवरात्रि, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व ?

भगवान शिव की भक्ति का पवित्र माह सावन चल रहा है, जिसकी शुरुआत विगत 17 जुलाई को हो चुकी है। प्रत्येक हिन्दु माह में एक शिवरात्रि पड़ती है और उसी माह के अनुसार उसका नाम शिवरात्रिओं को जाना जाता है जैसे सावन माह में पड़ने वाली शिवरात्रि को सावन शिवरात्रि के नाम से जानते है । हर महीने की कृष्णपक्ष चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि होती है । एक वर्ष में कुल 12 शिवरात्रिओं का वर्णन है परंतु सावन और फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को पड़ने वाली शिवरात्रि खास होती हैं। इस वर्ष सावन शिवरात्रि 30 जुलाई, दिन मंगलवार को है जिसका शुभ मुहूर्त सुबह 9:10 बजे से लेकर दोपहर 2:00 बजे तक होगा । शिवपुराण के मुताबिक हर सोमवार भगवान शिव की पूजा करने से काफी कष्टों से निजात पाई जा सकती है । माना जाता है कि अगर किसी व्यक्ति पर शिवजी प्रसन्न हो जाएं तो इससे उसकी कुंडली से सभी प्रकार के दोष दूर जाते हैं । इसके साथ ही गरीबी से भी छुटकारा मिल जाता है । माना जाता है कि इस दिन शिवशंभू को जल चढ़ाने से वे जल्दी प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं। धार्मिक मान्यता के अनुसार सावन के सोमवार के व्रत और शिवरात्रि की पूजा करने से हर मनोकामना पूरी होती है।

सावन शिवरात्रि की पूजा विधि भगवान भोले नाथ की पूजा विधि अत्यंत सरल और सहज है, परंतु शिव जी की पूजा पूर्ण श्रद्धा भाव और पूरे मन के साथ करनी चाहिए तभी शिव जी की कृपा मिलती है। सबसे पहले प्रातः काल स्नान ध्यान कर, दैनिक कार्यो से निव्रत्त हो कर, स्वच्छ वस्त्र धारण कर, शिव मंदिर जाये और जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, इत्र, चंदन, केसर, भांग इत्यादि सामग्री से भगवान भोले नाथ का अभिषेक करें ।

शुभ मुहूर्त - सावन शिवरात्रि का शुभ मुहूर्त प्रातः 9:10 बजे से लेकर दिन के 2:00 बजे तक होगा अगर आप इस मुहूर्त में भगवान शिव की पूजा करते है तो पूजा का विशेष फल प्राप्त होगा ।

महत्व शिव पुराण के अनुसार शिवरात्रि के व्रत का पूरे विधि विधान से पालन करता है, उसकी साभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। सावन के महीने में पड़ने वाली शिवरात्रि के दिन शिव की आराधना से भक्तों के सभी कष्ट तो दूर होते हैं साथ ही इस शिवरात्रि के दिन पूजा और व्रत रखने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। अगर आप मासिक शिवरात्रि का व्रत प्रारंभ करना चाहते है तो आप सावन शिव रात्रि से उसकी भी शुरुआत कर सकते है।

मंत्र -  ॐ नमः शिवाय

यदि आप अपने जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या से परेशान हैं तो यहाँ क्लिक करें।

 

Comments

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience
WhatsApp chatWhatsApp Us