Astroscience

बॉलीवुड



आमिर खान

आमिर खान का जन्म 14 मार्च, 1965 को फिल्म निर्माता ताहिर हुसैन के घर में हुआ।  जिसकी वजह से उन्हें शुरुआत से ही गाने बजाने व अभिनय की प्रतिभा रही। आमिर खान का जन्म शनि की महादशा में हुआ था ,जिसने उनकी माँ की सेहत और घर की सुख शांति खराब करने का काम सन् (1969) तक किया क्योकि राहु चौथे घर में बैठा हुआ है। जो घर में मरम्मत करवाने के बाद माँ के सुखो को खराब करने का काम करता है।

गोविंदा

फिल्म अभिनेता गोविंदा का जन्म 21 दिसंबर 1963 में अरुण कुमार आहूजा के घर में हुआ था। जन्म कुंडली के अनुसार गोविंदा का जन्म राहु की महादशा में हुआ जोकि सन् 1978 तक उनके जीवन को प्रभावित करती रही। इस दशा ने उनको स्वास्थ्य व पढ़ाई -लिखाई में खराबी का दौर उत्पन्न किया साथ ही माँ का स्वास्थ्य ख़राब करने का काम भी इसी दशा मे चंद्र आठवे में बैठ कर किया। साथ ही सूर्य,केतु, बुध, मंगल के छटे घर के मेल ने उनके जीवन में स्वभाव व क्रोध भी उत्पन किया तथा यह योग इन्सान को दिल का अच्छा बनाता है परंतु जुबान का कड़वा व सीधी बात करने जैसे परस्थितियो को भी पैदा करता है।  

शाहरुख खान

शाहरुख खान का जन्म  2 नवम्बर 1965 में एक मध्य वर्ग परिवार में हुआ था तथा चंद्र की दशा 1969 तक उनको प्रभावित करती रही साथ ही उनकी कुंडली में माँ के सुखों में कमी रहने के योग थे जैसे की सेहत का खराब रहना, नसों व मानसिक शांति का खराब रहना। 1967 से 1992 तक राहु की महादशा रही जिसमे उन्होंने अनेक उतार चढ़ाव की स्थिति देखी। इस दशा के चलते उनको अनेक बार उनके भाग्य ने साथ न दिया परंतु मंगल चौथे घर में बैठे होने के कारण उन्होंने हार नहीं मानी तथा कॉलेज के दिनों से ही वह कला के क्षेत्र से जुड़ते चले गये। क्योकि मंगल, शुक्र का मेल इन्सान को मौज-मस्ती का शौकिया व घूमने, तैरने का शौक व प्रेम संबंधों में बांधता है। इसी योग ने उनके अभिनय से जोड़ा व 1988 में उन्होंने फौजी नाटक में अभिनय किया। 

अमिताभ बच्चन

  श्री अमिताभ बच्चन का जन्म सन् 11 अक्टूबर 1942 में इलाहबाद यू. पी. में हुआ था। उनका जन्म राहु की महादशा में हुआ था जोकि 1955 तक उनके जीवन को प्रभावित करती रही। इस दशा ने उनको एक नेक इंसान बनाया क्योंकि लग्न में केतु के कारण ऐसा इंसान नेक दिल व दूसरों की मुसीबत अपने सर पर लेने वाला होता है परंतु उनकी कुंडली उनके काम व सेहत को लेकर अनेक संमस्या उनके जीवन में उत्पन्न करती रही। 

सुनील दत्त

सुनील दत्त का जन्म मंगल की महादशा  में 6 जून 1929 में पंजाब के झेलम जिले में हुआ। सुनील दत्त का असली नाम बलराज दत्त था। सुनील ने मुम्बई के जयं हिन्द कॉलेज में दाखिला लिया मंगल की यह दशा 1928 से 1935 तक इनको प्रभावित करती रहीं। मंगल लग्न और सूर्य की राशि के साथ बैठकर अपनी मेहनत और लग्न लगाकर काम करने को प्रेरित  किया लेकिन आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए  कण्डक्टर की नौकरी भी की।

अमरीश पुरी

अमरीश पुरी एक ऐसी हस्ती है, जिसका नाम खलनायक के तौर पर अमर रहेगा l आज हम उसी खलनायक की जन्म कुंडली का विश्लेषण कर रहे है l अमरीश पुरी जी का जन्म पंजाब मे 1932 मे मंगल की महादशा के अनर्गत हुआ l भाग्यस्थान के भाव मे स्थित मंगल ने इनको मेहनत और साथ मे भाइयो के काफी अच्छे सुख प्राप्त हुए l अमरीश पुरी जी के पिता एक साधारण व्यक्ति थे l सूर्य बुध के अदित्या योग के कारण उनको एक रोबदार स्वभाव का मालिक बनाया और साथ मे बुलंद आवाज़ का भी स्वामित्व प्राप्त हुआ l

नाना पाटेकर

नाना पाटेकर का जन्म 1 जनवरी सन 1951 में चन्द्र कि दशा में दिनकर पाटेकर के यहाँ रायगढ़ महाराष्ट्र में हुआ था l 21 फरवरी 1951 – 20 फरवरी 1958 के अंतर्गत मंगल की दशा चली इस दशा के अनुसार नाना पाटेकर की कुंडली में मंगल के स्थान पर बैठकर इनका  स्वास्थ्य अच्छा नहीं रहा।

 

करिश्मा कपूर

करिश्मा कपूर का जन्म 25 जून 1974 में सूर्य की महादशा मुंबई महाराष्ट्र में हुआ । इनके पिता पेशे से एक अभिनेता रहे है l करिश्मा की जन्म कुंडली में सूर्य ग्यारहवें भाव में बैठे है जिसे लाभ का स्थान माना जाता है l पिता का पढ़ाई लिखाई में अच्छा सहयोग मिलने के योग बनते है। करिश्मा की पढ़ाई बीच में छूटने के योग बनते है l चन्द्र की महादशा इनकी जन्म कुंडली में 26 अक्टूबर 1980 से 25 अक्टूबर 1990 तक रही। 

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience
WhatsApp chatWhatsApp Us