Astroscience

अमरीश पुरी

अमरीश पुरी एक ऐसी हस्ती है, जिसका नाम खलनायक के तौर पर अमर रहेगा l आज हम उसी खलनायक की जन्म कुंडली का विश्लेषण कर रहे है l अमरीश पुरी जी का जन्म पंजाब मे 1932 मे मंगल की महादशा के अनर्गत हुआ l भाग्यस्थान के भाव मे स्थित मंगल ने इनको मेहनत और साथ मे भाइयो के काफी अच्छे सुख प्राप्त हुए l अमरीश पुरी जी के पिता एक साधारण व्यक्ति थे l सूर्य बुध के अदित्या योग के कारण उनको एक रोबदार स्वभाव का मालिक बनाया और साथ मे बुलंद आवाज़ का भी स्वामित्व प्राप्त हुआ l


Celebrity Horoscope अमरीश पुरी Kundli
  • नाम:- अमरीश पुरी
  • जन्म की तारीख:- 22-06-1932
  • जन्म का समय:- 12:00
  • जन्म का स्थान:- Jalandhar
  • सूचना स्रोत:- Internet
Celebrity Horoscope अमरीश पुरी Kundli

अमरीश पुरीका राशिफल :-

अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे जैसे ही ब्रहस्पति का समय आया 1955 –1971 जोकि 16 साल तक इनको प्रभावित करता रहा l जैसे गुरु मे गुरु का समय चला उनको अपने जीवन मे काफी संघर्ष अपने कामकाज के लिए करना पड़ा l इसी गुरु मे गुरु के समय ने उनको ग्रहस्थ जीवन का सुख प्रदान किया l अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे बुध शुक्र के दसवें भाव मे होने के कारण उनकी रुचि कला के क्षेत्र मे ही रही l गुरु मे शनि का समय जैसे ही इनकी जन्म कुंडली मे आया उनको कला के क्षेत्र मे काफी सफलता के योग बने भाग्य स्थान मे मंगल देव के होने के कारण कला की प्रेरणा भाई से प्राप्त कर उनके सहायता से वह आगे बढ़े l गुरु की महादशा मे जब राहू का अंतर समय आया तो उनको कई प्रकार के मान-सम्मान के योग बने l अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे शनि देव जैसे ही आए उनको जीवन को एक नई ऊँचाइयो तक ले गया l 1971–1990 तक इनको प्रभावित करता रहा l यह शनि का समय 19 साल कल इनके जीवन को प्रभावित किया l अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे शनि देव व्यवसाय के भाव मे बैठे होने के कारण इनको काफी ऊँचाइयो तक ले गया जैसे ही शनि मे बुध का अंतरसमय आया अमरीश पुरी की जन्म कुंडली मे बुध शुक्र के मेल के कारण कला के क्षेत्र मे ऊँचाइयों का योग प्रदान किया। जैसे से ही अमरीश पुरी की कुंडली मे शनि मे केतू का समय आया क्योंकि उनकी जन्म कुंडली मे केतु उच्च भाव मे होने के कारण उनको मान-सम्मान और प्रसिद्धि का सुख प्रदान हुआ । लेकिन उनकी जन्म कुंडली मे शनि के साथ चंद्रमा के होने के कारण कई प्रकार के सेहत से संबन्धित परेशानी का सामना करना पड़ा । 1990 से जैसे ही अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे बुध का समय आया सूर्य बुध शुक्र के मेल के कारण उनको कई प्रकार की मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ा l इसी बुध के समय ने उनको नसों से संबन्धित परेशानियों के हालत बनाए जिसके कारण नसो मे खून का बहाव सही तरीके से न होने के कारण मृत्यु तुल्य कष्ट का सामना करना पड़ा जिसके कारण उनकी मृत्यु हो गई ।


1937 – 1955 तक अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे राहू का समय चला जो उनको 18 साल तक प्रभावित करता रहा l अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे राहू उच्च भाव मे होने के कारण और अपनी उच्च राशि के साथ बृहस्पति देव लाभ स्थान मे होने के कारण पढ़ाई से संबन्धित किसी भी तरह की परेशानी नहीं आई l लेकिन अमरीश पुरी जी की जन्म कुंडली मे चन्द्र शनि के विश योग के कारण उनको आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ा l बारहवें भाव मे उच्च के केतू के योग के कारण अपनी पढ़ाई से संबन्धित अपने जन्म स्थान को छोड़ने के योग बने l

Like & Follow

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience