Astroscience

मनमोहन सिंह

मनमोहन सिंह का जन्म पंजाब प्रान्त ( अविभाजित भारत ) में 26 सितम्बर, 1932 को हुआ था। मन मोहन सिंह जी भारत के पूर्व प्रधान मंत्री रहे, साथ ही साथ वे एक अर्थशास्त्री भी हैं। उनकी माता का नाम अमृत कौर और पिता का नाम गुरुमुख सिंह था। देश के विभाजन के बाद सिंह का परिवार भारत चला आया। 


Celebrity Horoscope मनमोहन सिंह Kundli
  • नाम:- मनमोहन सिंह
  • जन्म की तारीख:- 26-09-1932
  • जन्म का समय:- 14:00
  • जन्म का स्थान:- Jhelum
  • सूचना स्रोत:- Internet
Celebrity Horoscope मनमोहन सिंह Kundli

मनमोहन सिंहका राशिफल :-


यहाँ पंजाब विश्वविद्यालय से उन्होंने स्नातक तथा स्नातकोत्तर स्तर की पढ़ाई पूरी की। बाद में वे कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय गये। जहाँ से उन्होंने पीएच. डी. की। तत्पश्चात् उन्होंने आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से डी. फिल. भी किया। उनकी पुस्तक इंडियाज़ एक्सपोर्ट ट्रेंड्स एंड प्रोस्पेक्ट्स फॉर सेल्फ सस्टेंड ग्रोथ भारत की अन्तर्मुखी व्यापार नीति की पहली और सटीक आलोचना मानी जाती है। डॉ॰ सिंह ने अर्थशास्त्र के अध्यापक के तौर पर काफी ख्याति अर्जित की। वे पंजाब विश्वविद्यालय और बाद में प्रतिष्ठित दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में प्राध्यापक रहे।

श्री मनमोहन सिंह जी की जन्म बुध की महादशा मे 1932 मे हुआ। बुध की महादशा मे इन्होने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा उत्तम दर्जे की प्राप्त की। श्री मनमोहन सिंह जी की जन्म कुंडली मे बुध आदित्य योग की वजह से इनके पिता को तकलीफ़ों का सामना करना पड़ा, क्योंकि सूर्य इनकी कुंडली मे मरकेश का फल दे रहा है।

श्री मनमोहन सिंह जी की जन्म कुंडली मे जैसे ही केतु की महादशा 1946-1953 आयी इस समय मे इन्होने अपनी शिक्षा का लाभ प्राप्त किया। इसी समय इनके उच्च अधिकारियों से अच्छे संपर्क बने । इनकी कुंडली मे राहु पराक्रम क्षेत्र मे है, जिसने इनको विदेश यात्रा कराई और वैवाहिक जीवन का सुख भी प्रदान किया।

जैसे ही इनकी जन्म कुंडली मे शुक्र का आगमन 1953-1973 मे हुआ तो इस महा दशा मे इनके प्रसिद्ध राजनेताओं के साथ अच्छे संबंध बने, जहां से इन्हे राजनीति के अवसर मिले। शुक्र चन्द्र व मंगल की युति होने के कारण इनको जनता का पूरा सहयोग मिला। धनभाव के राहु की वजह से भाग्येश गुरु ने एक नया मंच इनको प्रदान किया।

श्री मनमोहन सिंह जी की जन्म कुंडली मे सूर्य की महादशा 1973-1979 तक रही। इस समय इनका जीवन सामान्य रहा। लेकिन जनता के बीच मे काफी चर्चित रहे, जिसका कारण बुध आदित्य योग और अष्टम का मंगल जोकि धन श्रेष्ठ योग बना रहा है। इस महादशा मे उनको काफी गौरव प्राप्त हुआ।

मनमोहन जी ने सोचा भी नहीं था की जैसे ही उनकी कुंडली मे चंद्रमा का समय आया 1979 -1989 इस समय मे इन्हे राजसभा का सदस्य बनाया। चन्द्र शुक्र की युक्ति और साथ मे कर्मश्रेष्ठ सूर्य ने रौबदार व्यक्तित्व दिया।

1989 – 1996 मे जब मनमोहन सिंह जी की जन्म कुंडली मे मंगल का समय आया, इन्होने सरकारी नौकरी छोड़ कर राजनीति मे कदम रखा और विपक्ष के नेता रहे। 2004 मे इनको प्रधान मंत्री का पद सँभाला।

2007 मे जी.डी.पी. की उन्नति हुई क्योंकि इस समय राहु का समय चल रहा था जो जी इनकी जन्म कुंडली मे पराक्रम क्षेत्र मे अच्छा रहा। इसी समय इनको आतंकी हमलो का सामना भी करना पड़ा ।

मनमोहन सिंह जी की जन्म कुंडली मे 1996 – 2014 तक राहु ने इनको काफी पुरस्कार मिले साथ ही विपक्ष से काफी परेशान रहे । आज का समय इनको एक आदर्शवादी शिक्षक के रूप मे दर्शाता है। मनमोहन सिंह जी की जन्म कुंडली मे गुरु का समय शुरू हुआ जोकि 2014 -2030 तक इनको प्रभावित करेगा और यह  इनकी सेहत की खराबी के योग बनाता है ।

Like & Follow

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience