Astroscience

नवजोत सिंह सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू जी का जन्म 1963 मे गुरु की महादशा मे पंजाब शहर मे हुआ l नवजोत सिंह जी की जन्म कुंडली मे उच्च भाव मे बैठे ब्रहस्पति देव के होने के कारण भाग्य ने काफी अच्छा सहयोग प्रदान किया l लेकिन वही सिद्धू जी की जन्म कुंडली मे ब्रहस्पति बुध के टकराव होने के कारण भाग्य पर समय-समय पर चोट मारने के योग भी बनाए l नवजोत सिंह को खेल जगत की प्रेरणा उनको उनके पिता से मिली l


Celebrity Horoscope नवजोत सिंह सिद्धू Kundli
  • नाम:- नवजोत सिंह सिद्धू
  • जन्म की तारीख:- 20-10-1963
  • जन्म का समय:- 12:00
  • जन्म का स्थान:- Patiala
  • सूचना स्रोत:- Internet
Celebrity Horoscope नवजोत सिंह सिद्धू Kundli

नवजोत सिंह सिद्धूका राशिफल :-

इसी बुध ग्रह के समय मे नवजोत जी को वैवाहिक और संतान का सुख प्राप्त हुआ l नवजोत सिंह जी की जन्म कुंडली मे तुला राशि मे लाभ स्थान मे होने के कारण पत्नी का काफी अच्छा सुख प्राप्त हुआ l नवजोत सिंह सिद्धू जी की जन्म कुंडली मे बुध के ये सत्रह साल काफी सुख और समृद्धि बहुत अच्छी ऊँचाइयों पर लेकर गया l और इसी बुध की महादशा के अंत तक उन्होने खेल जगत को अलविदा कर दिया l नवजोत सिंह सिद्धू जी की जन्म कुंडली मे 2000 मे केतू की महादशा शुरू हुई जोकि उनको 2007 तक प्रभावित करती रही l नवजोत सिंह जी की जन्म कुंडली मे लग्न भाव मे बैठे केतू ने उनको नेम फेम तो बहुत दिया इसी केतू के समय मे नवजोत जी ने राजनीति मे रुचि के योग बनाए l लेकिन उनकी जन्म कुंडली मे अशुभ केतु ने मान-सम्मान को खराबी के योग बनाये और इसी खराब समय के चलते सिद्धू जी ने राजनीति से थोड़ा अपना कदम पीछे रखे लेकिन नवजोत जी के जन्म कुंडली मे लाभस्थान मे विराजमान सूर्य और स्वराशी मे बैठे शुक्र ने राजनीत के उनके पूरे-पूरे योग बनाये l नवजोत जी की जन्म कुंडली मे कन्या राशि के बुध ने उनको प्रभावशाली वाणी प्रदान की और साथ ही उसको अपनी वाणी को अपना कार्य बनाने का विकल्प प्राप्त हुआ l जुलाई 2007 से नवजोत जी की जन्म कुंडली मे शुक्र की महादशा आरंभ हुई यह महादशा सबसे लंबी चलने वाली महादशा है l इसी शुक्र के समय मे नवजोत जी ने कला के क्षेत्र मे काफी नेम फेम कमाया और साथ ही धन-धान्य का भी सुख प्राप्त किया l अभी का समय नवजोत जी के जीवन मे काफी परेशानी वाला रहने वाला है l नवजोत जी की कुंडली मे सप्तम भाव मे बैठे राहू के कारण जैसे ही शुक्र मे शुशम दशा राहू की चल रही है जोकि मार्च 2019 तक आरोप लगने के पूरे-पूरे योग बनते है l यदि सही समय मे सही उपाय नहीं किए गए तो आने वाला समय सरकार की तरफ से काफी परेशानी देने वाला होगा l शुभ रत्न – माणिक्य


नवजोत जी की कुंडली मे लाभ स्थान मे सूर्य होने के कारण पिता का सपोर्ट काफी अच्छा मिला l नवजोत सिंह जी की जन्म कुंडली मे शनि की महादशा 1983 तक उनको प्रभावित करती रही l नवजोत जी की जन्म कुंडली मे धनभाव मे बैठे शनि ने उनको शिक्षा के काफी अच्छे सुख प्रदान किए और बिना किसी रुकावट के शिक्षा प्राप्त की l नवजोत जी की जन्म कुंडली मे कामकाज के स्थान मे बैठे बुध का जैसे ही समय शुरू हुआ 1983 से 2000 तक प्रभावित करता रहा l बुध का समय पूरे सत्रह साल चलता रहा और बुध अपनी स्वयं की राशि मे होने के कारण जैसे ही बुध का समय आया नवजोत सिंह सिद्धू जी ने अपने कामकाज की शुरुआत की l लेकिन वृश्चिक राशि मे मंगल होने के कारण शुरुआत मे काफी संघर्ष करवाया l नवजोत सिंह जी जन्म कुंडली मे सूर्य और गुरु शुभ स्थिति मे होने के कारण 1987 मे उनको प्रसिद्धि और सम्मान का सुख प्राप्त हुआ l

Like & Follow

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience