Astroscience

रजनीकान्त

रजनीकान्त एक नाम ही ऐसा है जिसको किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है लेकिन उनकी कुंडली उनके जीवन मे कई उतार छड़ाव लेकर आई जिसका विवरण अब हम बताने वाले है। प्रसिद्ध अभिनेता रजनीकान्त जी का जनम 12 दिसम्बर 1950 मे एक मराठी परिवार मे चंद्रमा की महादशा मे हुआ जोकि उनको 1958 तक प्रभावित करती रही ! उनके पिताजी रमोजी राव पुलिस कान्सटेबल थे  !


Celebrity Horoscope रजनीकान्त Kundli
  • नाम:- रजनीकान्त
  • जन्म की तारीख:- 12-12-1950
  • जन्म का समय:- 23:49
  • जन्म का स्थान:- Bangalore
  • सूचना स्रोत:- Internet
Celebrity Horoscope रजनीकान्त Kundli

रजनीकान्तका राशिफल :-

रजनीकान्त जी जनमकुंडली मे कालसर्पदोष होने के कारण भी उनके ग्रहनक्षत्र उनकी मेहनत और आत्मविश्वास के कारण हर तरह से उनका साथ देने वाले रहे ! रजनीकान्त जी का जनम कुंडली मे बुध शुक्र का योग उनको बचपन से ही कला क्षेत्र मे रुचि प्रदान करता है ! रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे बुध शुक्र के योग ने उनको बचपन से ही काफी तेज दिमाग भी प्रदान किया लेकिन शनि की राशि मे खराब स्थिति मे बैठे चंद्रमा ने उनके आर्थिक हालत अच्छे नहीं दिये ! चंद्रमा की इसी खराब दशा ने इनकी माता के सुख काफी छोटी उम्र मे ही खतम कर दिये ! रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे 1958 से मंगल का समय शुरू हो गया जोकि उनको 1965 तक प्रभावित करता रहा ! अभिनेता रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे मंगल उच राशि मे होने के योग से बहुत छोटी उम्र मे मेहनत करके अपनी कला का प्रदर्शन किया लेकिन शनि की राशि मे बैठे चंद्रमा और उस पर शनि देव जी की दृष्टि ने उनके आर्थिक हालत खराब ही रखे ! नीच राशि के अष्टम भाव मे बैठे राहू और छटे घर मे बने चन्द्र मंगल के योग ने उनको एडिया रगड़ने वाली महनत के योग बनाए ! रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे जैसे ही राहू का समय आया 1965 -1983 मे उन्होने पीछे मूड कर नहीं देखा नीच राशि मे होने के कारण शुरुआत मे उनको काला के क्षेत्र मे असफलता का सामना करना पड़ा गुरु की राशि मे बैठे बुध और कामकाज के हाउस मे गुरु एक अच्छे नेक स्वभाव से काम करने का योग प्रदान करना है और उनको नरमदिल इंसान भी बनाता है और इसी नरमदिली वाले स्वभाव ने उनको एक भगवान की छवि बनाई जैसे ही राहू मे शुक्र का समय आया उनको गृहस्त जीवन का सुख प्राप्त होने के योग बने ! इसी समय मे इनको संतान की भी प्राप्ति हुई लेकिन रजनीकान्त जी की जनमकुंडली चन्द्र मंगल के योग और नीच राशि के केतू ने पुत्र संतान के सुख से वंचित रखा ! लेकिन धनभाव और वाणी स्थान मे बैठे केतू ने ही उनको उनके बोलने की कला से ही उनको विश्व प्रसिद्धि प्रदान की ! 1983 – 1999 तक रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे शक्र का समय आया शुक्र बुध के साथ कामकाज के घर मे होने के कारण उनको फिल्म के क्षेत्र मे अपार सफलता प्रदान की ! रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे शुक्र के घर मे बैठे शुक्र ने उनको एक नरमदिल इंसान बनाया साथ ही दूसरे भाव मे बैठे शनि केतू ने इनको दान पुरण्य करने के संस्कार प्रदान किए जोकि इनको और अधिक प्रसिद्ध होने मे एक अहम भूमिका निभाते हा और इसी योग ने उनको अपनी कमाई को लोगो की समाजसेवा करने के योग बनाए ! रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे बुध शुक्र के मेल के कारण एक बेहतर एनर्जी का मालिक बनाया ! जैसे ही रजनीकान्त जी जनमकुंडली मे शनि का समय आया जोकि एक लंबे समय 19 साल तक उनको प्रभावित करता रहा ! 1999 -2018 तक रजनीकान्त जी की जनमकुंडली मे शनि का समय उनको प्रभावित करता रहा शनि के साथ बैठे केतू ने इनको इसी समय मे नई नई उचाई दी साथ ही इसी समय मे इनके फिल्म जगत के कार्य मे नए नए कीर्तिमान हासिल किए ! शनि देव की सूर्य पर पढ़ रही खराब दृष्टि उनको बालो से संबन्धित बीमारी देने के योग बनाते है ! लेकिन शनि देव ने उनको समृद्धि और धन मे किसी भी प्रकार की कमी नहीं दी ! शनि देव की इसी दशा मे रजनीकान्त जी ने कुछ ऐसे इतिहास बनाए जो की आने वाले समय मे उनके नाम को हमेशा अमर रखेगा 2018 - 2035 तक बुध का समय इनको और अधिक तरक्की की तरफ ले जाने के योग बनाएगा ! दिसम्बर 2018 तक बुध मे चल रही शुक्र की अंतर्दशा उनकी पत्नी को सेहत से संबंधित परेशानी के योग बनाते हा ! बुध कामकाज के क्षेत्र नए नए प्लानिंग के योग बनयेगा जोकि काफी सफल भी होंगे ! और साथ ही कला के क्षेत्र मे उन्नति के योग बनेगे अपनी बुआ बेटी का ध्यान रखे दिक्कत का समय आ सकता है !


Like & Follow

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience