Astroscience

राखी गुलज़ार

राखी गुलज़ार का जन्म पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के राणाघाट में एक बंगाली परिवार में हुआ था। वह हिन्दी फ़िल्मों की अभिनेत्री हैं। वह व्यापक रूप से केवल राखी के रूप में जानी जाती हैं। वह मुख्य रूप से हिन्दी फिल्मों और साथ ही कई बंगाली फिल्मों में दिखाई दी हैं। चार दशकों तक किये अभिनय में, उन्होंने कई अन्य पुरस्कारों के अलावा तीन फिल्मफेयर पुरस्कार और एक राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता है।


Celebrity Horoscope राखी गुलज़ार Kundli
  • नाम:- राखी गुलज़ार
  • जन्म की तारीख:- 15-08-1943
  • जन्म का समय:- 23:30
  • जन्म का स्थान:- Calcutta
  • सूचना स्रोत:- Internet
Celebrity Horoscope राखी गुलज़ार Kundli

राखी गुलज़ारका राशिफल :-


 फिल्मफेयर में, राखी को 16 बार (सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए 8 बार और सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए 8 बार) नामांकित किया गया, जिससे वह माधुरी दीक्षित और रानी मुखर्जी के साथ महिला श्रेणियों में सबसे अधिक नामांकित कलाकार हैं।

राखी गुलजार का जन्म मंगल की महादशा में 1947 में हुआ जो 1948 तक चली थी। मंगल इनकी कुंडली के लग्न में मौजूद है। इनको शादीशुदा जिंदगी में सुख की कमी बनाता है, साथ ही इनके पिता को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा।

 

राहु 1948 से 1966 इस महादशा के मध्य इनके परिवार को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा साथ ही राहु के द्वारा सूर्य ग्रहण और गुरू चांडाल योग के कारण इनकी शिक्षा और घर की समृद्धि को प्रभावित किया। मंगल के राहु के मौजूद होने के कारण इनके भाई गैर-सामाजिक कार्य नक्सलवादी में शामिल रहें। इसी समय इनके वैवाहिक संबंध बनें,क्योंकि अन्तर में राहु था जिस कारण इनके संबंध ज्यादा नहीं चले और तलाक हुआ। इसी महादशा में इनमें स्थानान्तरण हुआ जो इनके लिए काफी अच्छा रहा। फिल्म इंडस्ट्रीज में इनका संबंध इसी दशा के दौरान हुआ।

 

गुरू 1966 से 1982 तक बृहस्पति की इस महादशा में इनको काफी अच्छे फलों की प्राप्ति हुई। इस दशा में इनके द्वारा 1973 में पुनः विवाह किया और फिर इन्हें कमाई करने का स्त्रोत प्राप्त हुआ। लेकिन जब गुरू में राहु-शुक्र के अन्तर के दौरान ही इन्होने कई सफल फिल्में की साथ ही इस दौरान इन्होने अपने परिवार से विच्छेद कर लिया। यह सबसे ज्यादा फीस लेने वाली स्टार बन गई। यह दशा इनके लिए योगकारक रहीं।

 

शनि 1982-2001 शनि देव जो इनकी कुंडली में दूसरे घर में धन भाव के स्वामी हैं। इस दशा के दौरान वे अधिक अच्छी तरह से चमके और विदेशों में इनकी पहचान को कायम किया। इसी महादशा के दौरान इन्होनें काफी बेहतरीन फिल्मों में प्रदर्शन किया। साथ ही शनि का कंसर्ट धन भाव से होने की वजह से इनको सेहत की दिक्कतें बनीं।

 

बुध 2001 से 2018 बुध की यह महादशा में इनके लिए योगकारक रहीं। साथ ही इस दशा के दौरान इनको कई पुरूस्कार और पद्म श्री पुरूस्कार से सम्मानित किया गया। साथ ही इस दशा में इनका अपने परिवार से अलगाव हो गया। इस दौरान मानसिक पीड़ा और परिवारिक कलह और बेवहज कष्ट का सामना करना पड़ा। क्योंकि इनकी कुंडली मे बुध का योगकारक होना, चन्द्रग्रहण और सूर्यग्रहण के कारण इनके सेहत और परिवारिक विवाद चलें। इन्होने शुक्र के मेल की वजह से सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेकर कई प्रकार की तारीफें मिली।

Like & Follow

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience