Astroscience
sas

स्कूल ऑफ ऐस्ट्रोसाइंस

द स्कूल ऑफ एस्ट्रोसाइंस (एसएएस) जी.डी. वशिष्ठ ज्योतिष संस्थान की ज्योतिषीय प्रशिक्षण की एक शाखा है। स्कूल ऑफ एस्ट्रोसाइंस में कोई भी इस ज्योतीषीय कोर्स में अपना पंजीयन करवा कर बहुत ही आसानी और सुलभता से ज्योतिष शास्त्र का ज्ञान अर्जित कर सकता है, वह चाहे भारत का हो यो फिर किसी अन्य देश का रहने वाला हो। ज्योतिष के कोर्स को सीखने के दो माध्यम है एक तो ऑनलाइन (ई-लर्निंग) और दूसरा संस्थान में संचालित पाठ्यक्रम में कक्षाओं में माध्यम से आप ज्योतिष के इस अमूल्य ज्ञान को प्राप्त कर सकते है।

कर्म और भाग्य जीवन रूपी गाड़ी के दो पहिये है , कर्म आप करो भाग्य हम बनाएँगेl

गुरुदेव जी.डी. वशिष्ठ

sas जो छात्र संस्थान में ज्योतिष को सीखते है और परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते है उन्हें जीडी वशिष्ठ ज्योतिष संस्थान की तरफ से सर्टिफिकेट भी प्रदान किया जाता है। स्कूल ऑफ ऐस्ट्रो साइंस के पाठ्यक्रम में छात्रों को ज्योतिष की बारीकियों से अवगत कराया जाता है। संस्थान में अध्ययनरत छात्रों को स्वरोजगार या नौकरी के अवसरों के लिए भालि-भाति तैयार किया जाता है।

इस ज्योतिषीय पाठ्यक्रम की अवधि 1 वर्ष है, इस पाठ्यक्रम में 3 सेमेस्टर होते है जिन्हे उत्तीर्ण करना अनिवार्य होता है । ज्योतिष पाठ्यक्रम में जब कोई भी छात्र दाखिला लेता है, तो उसे एक यूजर नेम और पासवर्ड संस्थान की तरफ से प्रदान किया जाता है, जो पूरे पाठ्यक्रम के दौरान मान्य रहता है। CLICK HERE.

अपनी निःशुल्क भविष्यवाणी की जाँच करें

Stay connected
नवीनतम ब्लॉग
  • मांगलिक दोष का नाम सुन कर मन में क्यों पैदा हो जाता है डर?
  • देवउठनी एकादशी के दिन क्या है, तुलसी विवाह की धार्मिक परंपरा?
  • पुष्कर मेले में जानें, माता सरस्वती ने क्यों दिया भगवान ब्रह्मा जी इतना बड़ा श्राप?
  • क्या है, पांच दिनों तक चलने वाले दिवाली के त्यौहार की पूजन विधि

हमारे विशेषज्ञों से बात करें

अच्छे परिणाम, सही संचार और दशकों का अभ्यास अब आपको सिर्फ एक ही मंच पर यहाँ मिलता है l आप कॉल करके हमारे विशेषज्ञों से अपने लिए अच्छे उपाय प्राप्त कर सकते है। आपकी हर समस्या का समाधान और उसके उपाय आप अब आसानी से प्राप्त कर सकते है।

Astroscience
WhatsApp chatWhatsApp Us