Astroscience
सास- बहू के बीच लड़ाई झगड़े की क्या होती है वजह (reason for fight between daughters in law and mother in law)

सास- बहू के बीच लड़ाई झगड़े की क्या होती है वजह (reason for fight between daughters in law and mother in law)

प्रश्न -  सास- बहू के बीच लड़ाई झगड़े की क्या होती है वजह?

उत्तर -  ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माँ या सास को चंद्र की संज्ञा दी गई है तथा बहू को शुक्र की और जब इन शुक्र और चंद्रमा का मेल होता है तो ऐसी स्थिति में नीच केतु का योग बनता है   यही नीच केतू सास बहु के बीच  परेशानी, तनाव, टेंशन और झगड़े का कारण है.

इसी नीच केतु के प्रभाव से माँ या सास के घुटनों, कंधों और कमर में तकलीफें उत्पन्न हो जाती है.साथ उनकी जुबान भी कड़वी होती चली जाती है. यह घटना कुदरती विडंबना है. ऐसी स्थिति में ज्योतिष शास्त्र में कहा गया है कि सास अर्थात चंद का केतु खराब होता   है और बहू अर्थात शुक्र का चंद्र खराब होता है.

जिन भी जातकों की कुंडली में शुक्र और चंद्र बहुत ही अच्छे भाव में बैठे होते हैं वहां पर सास और बहू के बीच कभी झगड़ा नहीं होता है. परन्तु ऐसी कुंडलिया विरले ही पाई जाती है.

लाल  किताब उपाय-  ऐसी स्थिति में सास को केतु के उपाय करने चाहिए.

1 - सफेद या काले रंग  के कंबल को अपने सर से 7 बार घुमाकर किसी मंदिर में दान कर दें. केले के वृक्ष की पूजा करें तथा केले को मंदिर में दान करें.

बहू को चंद्र के उपाय करने चाहिए.

2 -  प्रत्येक सोमवार को भोलेनाथ का व्रत कर उनकी पूजा करनी चाहिए तथा मंदिर में खीर बनाकर चढ़ावे के रूप में चढ़ाना चाहिए.

Question - What is the reason for the fight between the daughters-in-law and Mother-in-law?

 Answer - According to astrology, mother or mother-in-law has been given the name of lunar and daughter-in-law of Venus and when these Venus and Moon coincide, then in such a situation, there will be a combination of low Ketu in this situation.  Stress is the cause of tension and quarrels.

 Due to the effect of this low Ketu, mother or mother-in-law causes problems in her knees, shoulders and waist. Her tongue also gets bitter.  This incident is a natural irony.  In such a situation, it has been said in astrology that the mother-in-law, that is, Ketu of Chand is spoiled and daughter-in-law, Venus's moon is spoiled.

 In all the people whose horoscope Venus and Chandra are sitting in a very good phase, there is never a fight between mother-in-law and daughter-in-law.

 Lal Kitab Upay- In such a situation, mother-in-law should take Ketu remedies.

 1- Turn( warna) the white or black blanket with your head 7 times and donate it to a temple.  Worship the banana tree and donate the banana to the temple.

 2 - Every Monday, fasting of Bholenath should be worshiped and after make Kheer in the temple and offering it as an prashad.


Gd Vashisht Enquiry

Comments

speak to our expert !

Positive results come with right communication and with decades of experience. Try for yourself about our experts by calling one of them
to feel the delight about understanding your problems, and in getting the best solution and remedies.

Astroscience