Astroscience
राहु और शनि के मेल से लगती है नशे की आदत? (The Union of Rahu and Saturn gets Habit of Drug Addiction)

राहु और शनि के मेल से लगती है नशे की आदत? (The Union of Rahu and Saturn gets Habit of Drug Addiction)

प्रश्न – नशे के लिए कौन से ग्रह है, जिम्मेंदार ?

उत्तर – ज्योतिष के अनुसार जब भी जन्म कुण्डली के दूसरें ग्रह में राहु देव विराजमान हो या फिर जन्म कुण्डली के दूसरे घर में राहु की द्रष्टि पड़ रही हो तो ऐसे जातक नशे की ओर भटक जाते है। दूसरा यह भी है कि अगर राहु दूसरे ग्रह के स्वामी के साथ युति बना लेता है तो भी जातक नशे का आदि हो जाता है। नशे का एक और भी कारण है कि कुण्डली के कुछ विशेष भावों में राहु का शनि के साथ मेल हो जाता है और दोनों खराब अवस्था में होते है तो जातक में नशे की आदत पड़ जाती है।

लाल किताब उपाय – शमशान घाट का पानी किसी काँच की बोतल में भरकर रखें और अस्पताल, मुक्ति घर के पास पीने योग्य पानी की व्यवस्था करें।

Question: Which ‘planets’ are responsible for drug addiction?

Answer: According to Astrology, whenever Lord Rahu, Rahu Dev is seated in the 2nd House in the horoscope birth chart, Janam Kundli, or then that the view of Rahu is falling on the 2nd House of the Janam Kundli, such persons get drifted-attracted towards drug addiction. Secondly, it is also there, that if Rahu is making a union with the Lord-Swami planet of the 2nd House, then also a person becomes habitual of drug addiction. There is one more reason for drug addiction, that in certain specific-special Houses of the Kundli, there is the union of Rahu and Saturn, and both come in bad situation-condition, then a person falls in the habit of drug addiction.

Lal Kitab Remedy: Fill the water from a crematorium in a glass bottle and keep it, and make arrangement for drinking type/drinkable water near the hospital, crematorium ground.

यदि आप अपने जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या से परेशान हैं तो यहाँ क्लिक करें।

 

Comments

speak to our expert !

Positive results come with right communication and with decades of experience. Try for yourself about our experts by calling one of them
to feel the delight about understanding your problems, and in getting the best solution and remedies.

Astroscience
WhatsApp chatWhatsApp Us