Astroscience

VIRGO

(सूर्यराशि) तिथि सीमा :-
23 अगस्त से 22 सितंबर
राशि का स्वामी :-
बुध
आकृति/ चिन्ह :-
कन्या/ लड़की
शुभ दिन :-
बुधवार और शुक्रवार
शुभ रंग :-
स्लेटी
शुभ अंक :-
5
शुभ रत्न :-
सोना और पन्ना
संगत राशियाँ :-
मेष, धनु और सिंह

Like & Follow

कन्या राशि के जातक :-

कन्या राशि वाले जातको का स्वामी बुद्ध होने के कारण ये लोग पढ़ने-लिखने और ज्ञानार्जन मे सदैव तत्पर रहते है। सबके प्रति मृदु भाव इनके स्वभाव की विशेषता है। परंतु बुद्ध सूर्य के निकटतम ग्रह है इस कारण अत्यधिक गर्म है जो कि कभी – कभी इनके स्वभाव मे उग्र रूप मे दिखाई पड़ता है। ये लोग अधिक परिश्रमी और ईमानदार होते है। अपनी लगन और मेहनत से अर्जित किए गए धन –संपत्ति पर ही हक जताते है। विपरीत परिस्थितियों मे भी अडिग रहते है। इनमे प्रबंधन की अपार क्षमता होती है। समीक्षात्मक रवैया होने के कारण समस्या की जड़ तक पहुंचाना इनके चरित्र का मुख्य लक्षण है। जिससे लोग इनसे बचने के उपाय ढूंढते है। व्यवस्थित जीवन जीना पसंद करते है। स्वच्छता प्रिय होते है। राशि स्वामी बुद्ध इनमे निर्णय लेने की क्षमता विकसित करता है जिससे इनमे नेतृत्व करने का गुण उत्पन्न होता है।


प्रतीक क्या निर्धारिक करते है:-

कन्या राशि का प्रतीक /चिह्न कन्या/ लड़की होने के कारण यह इनके मृदु स्वभाव को व्यक्त करता है। कन्या के चरित्र कि ये विशेषता होती है की इनकी वाणी मे मिठास और व्यवहार मे चंचलता होती है। साथ ही राशि का स्वामी बुद्ध इन जातको पर अपने आक्रामक होने का भी लक्षण प्रदर्शित करता है। जिससे इनके स्वभाव मे मिश्रित गुण के दर्शन होते है।


किन चीज़ों की है कमी:-

राशि का स्वामी बुध और प्रतीक कन्या कभी –कभी आपस मे द्वंद की स्थिति उत्पन्न करता है। अर्थात बुध अपनी आक्रामकता दिखाता है वहीं कन्या अपना मृदु स्वभाव, ऐसे मे ये द्वंद की स्थिति लोगो को इन्हे समझने मे भ्रम उत्पन्न करती है। कभी कभी इनका अत्यंत मृदु स्वभाव इनकी कमजोरी के रूप मे अपने लक्षण प्रदर्शित करता है। साथ ही इनका समीक्षात्मक रवैया बाल की खाल निकालने मे पीछे नहीं हटता इसलिए लोग इनसे दूर रहना ही अच्छा समझते है। कन्या राशि के जातक अधिक शर्मीले होते है इसलिए प्रेम संबंधो मे पहले पहल करने से बचते है जिसका हर्जाना इन्हे भरना पड़ता है। इनका जिद्दी स्वभाव इन्हे गलतियों को न मानने पर विवश करता है।


रंग-रूप और शारीरिक बनावट:-

कन्या राशि के जातक अत्यंत लुभावने और आकर्षक दिखते है। नाक-नक्श और चेहरे पर मासूमियत का भाव इन्हे औरों से अलग बनाता है। शारीरिक संगठन की बात करे तो ये लोग हिस्ट-पुष्ट और लंबे कद –काठी के होते है। रंग साफ होता है। लेकिन थोड़े आलसी प्रवृति के होते है।


प्रेम संबंध और पारिवारिक जीवन :-

प्रेम संबंधो की बात करे तो कन्या राशि के जातक रोमांटिक होते है परंतु अपनी तरफ से पहले पहल कभी नही करते है। अपने जीवन साथी मे स्वयं को ढूँढने का प्रयास करते है। साफ-सुथरा और व्यवस्थित जीवन व्यतीत करना पसंद करते है जो की कई बार इनके साथी के साथ झगड़े का कारण बनता है। अपने साथी के प्रति सम्पूर्ण समर्पण का भाव रखते है । संबंधो मे छल-कपट की भावना मे विश्वास नही रखते। कन्या राशि के जातको के लिए लॉन्ग डिस्टेन्स रिलेशनशिप खतरनाक साबित हो सकती है।

speak to our expert !

Positive results come with right communication and with decades of experience. Try for yourself about our experts by calling one of them
to feel the delight about understanding your problems, and in getting the best solution and remedies.

Astroscience